तो इसलिए MBBS के लिए यूक्रेन जा रहे हैं भारतीय छात्र

विदेश से एम.बी.बी.एस.

5 अप्रैल 2019 को मेडिकल कॉउंसिल ऑफ़ इंडिया (M. C. I.) ने नोटिस जारी कर विदेश से MBBS करने जाने वाले छात्रों को राहत की खबर दी है। नोटिस में कहा गया है कि जो छात्र 2018 में NEET की परीक्षा उत्तीर्ण नहीं कर पाए थे या किसी भी कारण से परीक्षा में नहीं बैठ पाए थे, वह 5 जून 2019 से पहले विदेश में मेडिकल यूनिवर्सिटीज में MBBS के लिए दाखला ले सकते हैं।  साथ ही यह भी बताया कि अब NEET का स्कोर अगले तीन साल तक मान्य रहेगा।

विदेश जाकर पढ़ना हर भारतीय का सपना होता है, पर क्या कारण है जो विदेश से MBBS करना भारतीय बच्चों की पहली पसंद बन चुका है। आइये विस्तार से जानते हैं

भारत में कम हैं मेडिकल की सीट

भारत में इस वर्ष लगभग 16 लाख बच्चो ने नीट का फॉर्म भरा है। गौरतलब है कि देश में अगर सरकारी और गैर-सरकारी विद्यालयों की सीटों को मिला दिया जाए तो मात्र 60000 सीट ही हैं जिनमें लगभग 30000 सरकारी तथा 30000 ही गैर-सरकारी विद्यालयों में उपलब्ध हैं। ऐसी स्थिति में हर साल लाखों बच्चे MBBS करने से वंचित रह जाते हैं जिसके परिणामस्वरूप बच्चे और समय बर्बाद ना करके विदेश के सरकारी विद्यालयों से MBBS करने के विकल्प को चुनते हैं।

विदेश से पड़ता है सस्ता

MBBS के मामले में पूर्व से ही भारतीय छात्रों की पहली पसंद यूक्रेन और रूस जैसे विकसित देश ही रहे हैं। देश में हर वर्ष हज़ारों छात्र विदेश से MBBS करके भारत आते हैं और यहीं अपनी प्रैक्टिस करते हैं। भारत के गैर सरकारी संस्थानों में फीस को लेकर पिछले कुछ समय में जिस प्रकार से बेतहाशा वृद्धि हुई है वह किसी से छुपा नहीं है। जिस कारण एक आम आदमी को अपने बच्चे को भारत से मेडिकल काफी मुश्किल हो गया है  और साथ में उसको डोनेशन का दंश अलग से झेलना पड़ता है। भारत में प्राइवेट विद्यालयों से MBBS करने के लिए कम से कम एक से डेढ़ करोड़ का बजट बनाकर चलना होता है जबकि यूक्रेन की नेशनल मेडिकल यूनिवर्सिटीज में पूरे MBBS की फीस मात्र 15 से 20 लाख है।

नई तकनीकों द्वारा अंग्रेजी में होती है पढ़ाई 

जहाँ एक तरफ यूक्रेन की कम फीस भारतीय छात्रों को लुभाती है वही दूसरी तरफ उच्च तकनीक से पढाई भी आकर्षण का केंद्र है। यूक्रेन में हर वर्ष विश्व भर से बच्चे मेडिकल की पढाई के लिए आते हैं इसलिए यूक्रेन की मेडिकल यूनिवर्सिटीज में पढ़ाने का माध्यम अंग्रेजी है ताकि सभी छात्र आसानी से पढाई कर सकें। बच्चों को पढ़ाने के लिए 10  से 12 बच्चों का एक ग्रुप बनाया जाता है ताकि बच्चे आसानी से समझ सके और अपने सवाल आसानी से प्रोफेसर से कर सकें।

रहना तथा भारतीय खाना आसानी से उपलब्ध है

यूक्रेन में भारतीय छात्रों की बढ़ती तादाद को देखते हुए अब यूक्रेन के हर शहर में भारतीय खाना आसानी से बहुत कम मूल्य पर उपलब्ध है विद्यालयों में रहने वाले छात्रों के लिए भारतीय मेस की सुविधा भी बहुत ही काम मूल्य में उपलब्ध है। साथ ही विद्यालयों के छात्रावास के अलावा भी शहर में रहने के लिए भी उचित मूल्य में साफ़ सुथरे घर उपलब्ध हैं। इसके अतिरिक्त छात्र एवं छात्राओं के लिए अलग – अलग रहने की व्यवस्था है। 

छात्राओं के लिए है सुरक्षित

भारत में छात्राओं की सुरक्षा सदैव ही परिवार के लिए चिंता का विषय बनी रही है। यूक्रेन हमेशा दुनिया के सबसे सुरक्षित देशों में माना जाता रहा है यही कारण है कि यहाँ हर वर्ष भारत से आने वाली छात्राओं की संख्या में लगातार भारी वृद्धि हो रही है तथा भारतीय परिवार भी बेझिझक आगे बढ़कर अपनी बेटियों को पढ़ाने के लिए बाहर भेज रहे हैं।

डिग्री भारत में है मान्य

विदेश से MBBS करना भारत में पूरी तरह से मान्य है। छात्र किसी भी विदेश की यूनिवर्सिटी से दाखला लेने से पहले यूनिवर्सिटी का नाम MCI द्वारा प्रस्तावित सूचि में ज़रूर जांच लें। अगर आपकी यूनिवर्सिटी का नाम MCI की सूचि में है तभी आप अपना MBBS खत्म करने के बाद भारत में प्रैक्टिस कर पाएंगे, अन्यथा नहीं।

कैसे जाएँ MBBS के लिए विदेश

अगर आप विदेश से MBBS करना चाहते हैं तो एजुरीम (EDUREAM) भारत में विदेश की टॉप मेडिकल यूनिवर्सिटीज के डायरेक्ट पार्टनर हैं जिनके द्वारा आप किसी भी यूनिवर्सिटी में डायरेक्ट एडमिशन ले सकते हैं जो पिछले कई वर्षों से बच्चो के एडमिशन दुनिया की टॉप मेडिकल यूनिवर्सिटीज में करा रही हैं। एजुरीम कंपनी विदेश में न सिर्फ बच्चों का एडमिशन कराती है बल्कि वहां पर उनका पूरा ध्यान भी रखती है।

यूक्रेन की मेडिकल यूनिवर्सिटीज के बारे में जानें

Get in touch with us and we shall assist you in enrolling to your dream international university.

Recent Posts

Categories

Recent Tweets

2020-06-15T10:28:47+00:00

Leave A Comment

Head Office

15, Eduream Office, First Floor, Hansalya building, Barakhamba Road, New Delhi

Mobile: +91-783 583 4444

Web: www.eduream.com

Recent Posts

Get Free Assistance From Our ExpertsDon't worry, we hate spam too!